जानिए ! Vitamin A के फायदे, अच्छे स्त्रोत और कमी के लक्षण क्या होते है?

vitamin A

Easy To Reach

विटामिन ए क्या होता है? और इसके कितने प्रकार होते है? – What is Vitamin A and types of Vitamin A?

आप जानते है कि विटामिन दो प्रकार के होते है पानी में घुलनशील विटामिन्स और वसा में घुलनशील विटामिन्स. Vitamin A एक Fat-Soluble विटामिन है. विटामिन ए एक Powerful Antioxidant भी है. परन्तु, Vitamin A एक ऐसा Vitamin है जिसे हमारा शरीर बना नहीं सकता. इसीलिए इसे हमें खाने से ही प्राप्त करना होता है.

जैसे कि दुसरे विटामिन्स का महेत्त्व होता है. वैसे ही हमारे शरीर के development में विटामिन ए का भी एक महत्वपुर्ण और विशाल रोल होता है. विटामिन ए प्राकृतिक रूप से काफी अलग-अलग प्रकार के फूड्स में पाया जाता है. और इसके काफी गज़ब फ़ायदे होते है. जिसे आप आगे पढने जा रहे है.

विटामिन ए के प्रकार – Types of Vitamin A

विटामिन ए दो प्रकार एक होते है. एक पूर्वनिर्मित (Preformed) Vitamin Aरेटिनोइड्स”,जोकि हमे मांस, मच्छी, अंडे और डेरी products जैसे की दूध, दही, पनीर, छांछ आदि से प्राप्त होते है. retinol and retinyl esters के रूप है.

और दूसरा Provitamin A, जो “Carotenoids” है. जिसमे सबसे common है Beta-Carotene जो हमे रंग-बिरंगे फल-फ्रूट्स, सब्जियों, और कई पौधों के उत्पादों से मिलता है.

विटामिन ए के काम और फ़ायदे क्या होते है? – Vitamin A function and it’s benefits.

Vitamin A मुलायम कोशिकायों(Cells), ऊत्तको(Tissues) जैसे आँख, शरीर की सभी मांसपेशियों(Musules), बालों, त्वचा(skin), श्लेष्मा झिल्ली(Mucous Membrane), दिल, गुर्दे, जिगर, दिमाग और हड्डियों(Skeleton), कैंसर से बचाव को बढाता है, गर्भवती महिलायों के लिए, स्तनपान करने वाली महिला आदि के लिए फायदेमंद होता है.

आँख के लिए Vitamin A :-

Vitamin A

Vitamin A हमारी आँखों के लिए काफी फ़ायदे मंद होता है. इससे आँखों की रोशनी बनी रहती है जिसके कारण हम अच्छी तरह से देख पते है.

“रेटिनॉल (Retinol)” यानी के विटामिन ए जोकि हमें रंग-बिरंगे फल-फ्रूट्स, सब्जियों, और पौधों के उत्पादों से मिलता है उससे हमारी आँख के पीछे के पर्दे रेटिना(Retina) के लिए बहुत ही important होता है. जिसके कारण हम कम रोशनी देख सकते है.

मांसपेशियों ऊत्तकों और श्लेष्मा झिल्ली :-

Vitamin A

हमारी शरीर की सभी मांसपेशियों (Muscles), ऊत्तकों (Tissues), और श्लेष्मा झिल्ली (Mucous Membrane) आदि को बनाने, मरम्मत करना और इसकी सुरक्षा के लिए जरुरी है.

श्लेष्मा झिल्ली वह झिल्ली होती है जो, हमारे शरीर को अंदर से cover करती है ताकि, हमारे अंगो को नुकसान न पहुचें.

स्वस्थ बालों और त्वचा के लिए Vitamin A :-

विटामिन ए त्वचा(skin) के रूखेपन और dryness को दूर करता है. बालों और त्वचा को healthy रखना, इनकी growth में हेल्प करता है. और इनकी मरम्मत करता है.

और अन्ये बालों और त्वचा से सम्बंधित होने वाली problems को भी रोकता है. Vitamin A हमारी skin को जवान भी रखता है.

दिल, गुर्दे, जिगर के लिए Vitamin A :-

Vitamin A दिल, गुर्दे, यकृत(heart, kidney, liver) के functionमें भी इसकी फाकी जरुरत होती है.

खून के लिए Vitamin A :-

Vitamin A

हमारे शरीर में “सफेद रक्त कोशिकायो” यानी White Blood Cells को बनाने में और इसके महत्वपुर्ण कार्यों में विटामिन ए की एक एहेम भूमिका होती है.

इसके साथ ही साथ यह खून में मोजूद रोग उत्पन्न करने वाले bad bacteria को ढूंढ़कर मार देता है. जिसके कारण हमारा blood healthy रहता है.

Vitamin A का हड्डियों(Skeleton) के लिए Role :-

Vitamin A

दांतों और हड्डियाँ को बनाने में और इन्हें healthy और maintain रहने में मद्द करता है जिसके कारण हमारी दांतों और हड्डियाँ अच्छी तरह से काम कर पाती है. और हमारे daily life में हमारा साथ दे पाती है.

Vitamin A के नियमित इस्तेमाल से हड्डियों की रक्षा और फ्रैक्चर होने की सम्भावना कम हो जाती है.

कैंसर(Cancer) से बचाव को बढाना :-

जैसा की आपको पता चल ही गया है कि Vitamin A एक एंटीऑक्सीडेंट विटामिन है इसीलिए विटामिन ए को लेने से यह कैंसर की संभावना को कम कर देता है.

इसका मतलब यह नहीं है कि अगर कोई कुछ दिनों तक विटामिन ए न ले या न ले पाए तो उसे कैंसर हो जायेगा. नहीं यह गलत है. एंटीऑक्सीडेंट हमें जवान रहने में भी मद्द करता है. हैना ! कमाल की बात.

रोग-प्रतिरोधक क्षमता(Immune System) :-

Vitamin A

हमारे शरीर के अंदर छिपे एक डॉक्टर यानी के रोग-प्रतिरोधक क्षमता(Immune System), जोकि हमें बीमारियों से बचाता है. Vitamin A रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढाता है.

अगर आप अपने Immune System को ताकतवर बनाना चाहते है तो, आज से ही गहरे रंग-बिरंगे फल-फ्रूट्स, सब्जियों खाना शुरू कर दें. गहरे रंग वाली फल और सब्जियों में एंटीऑक्सीडेंट होते है.

Breast Feeding और Pregnancy :-

Vitamin A

Vitamin A pregnancy में शिशु के सामान्य विकास में मद्द करता है. जिसमे विटामिन ए शिशु के दिल, आँखे और रोग-प्रतिरोधक क्षमता(Immune System) आदि को develop होने में हेल्प करता है.

विटामिन ए की मात्रा अपनी जरुरत के अनुसार ही लेनी चाहिए. ना ही ज्यादा और ना ही कम.

विटामिन ए हमे कितना लेना चाहिए? – What is recommended dietary allowances (RDAs) of Vitamin A?

मिक्रोग्राम्स {Microgram(mcg)}, अंतराष्ट्रीय इकाई {International Unit(IU)}

1 IU = 0.3 mcg

आयु / वर्ग प्रतिदिन मात्रा mcg, IU में
1 से 3 वर्ष 300 mcg या 1,000 IU
4 से 8 वर्ष 400 mcg या 1320 IU
9 से 13 वर्ष 600 mcg या 2000 IU
पुरुष 14 वर्ष और 14 वर्ष + 900 mcg या 3000 IU
महिला 14 वर्ष और 14 वर्ष + 700 mcg या 2310 IU
गर्भवती महिला 14 से 18 वर्ष + 19 और 19 वर्ष +  750 mcg या 2500 IU 770 mcg या 2565 IU
स्तनपान कराने वाली महिला 19 वर्ष से नीचे 19 और 19 वर्ष +  1200 mcg या 4000 IU 1300 mcg या 4300 IU

विटामिन ए हम कहां से ले सकते है? – What are the Good Vitamin A sources?

Vitamin A को प्राप्त करने के दो स्त्रोत है मांसाहारी भोजन और शाकाहारी भोजन. इनसे हम विटामिन को दो रूप में प्राप्त करते है एक पूर्वनिर्मित (Preformed) Vitamin A “रेटिनोइड्स”, जोकि हमे मांस, मच्छी, अंडे और डेरी products जैसे की दूध, दही, पनीर, छांछ आदि से प्राप्त होते है.

और दूसरा Provitamin A, जो “Carotenoids” है. जो हमे रंग-बिरंगे फल-फ्रूट्स, सब्जियों और कई पौधों के उत्पादों से मिलता है. निचे आप पढेंगे Vitamin A rich foods के बारे में. मार्किट में विटामिन ए कई अन्ये स्त्रोत भी मोजूद है.

जैसे की Vitamin A capsules, Vitamin A supplements, a to z multivitamins tablets, Vitamin A tablets आदि. परन्तु, मैं आपको बताना चाहूँगा की इस प्रकार की products को देने से पहले अपने डॉक्टर से जरुर पूंछे.

पूर्वनिर्मित (Preformed) Vitamin A foods के अच्छे स्रोत:-

IU को mcg में बदलने के लिए आप IU को 0.3 से गुणा कर सकते है.

स्त्रोत (Sources)Vitamin A की मात्रा IU में.
मेमने के जिगर 10 g2,461.2 IU
1 चम्मच कॉड लिवर तेल4,500 IU
1 कप पकी हुई Mackerel Fish 169 g213.5 IU
Salmon Fish 198 g99 IU
Tuna Fish 154 g92.4 IU
1 कप दूध या 244 g114.7 IU
100 g दही140 IU
100 g मक्खन2,499 IU
1 बड़ा उबला हुआ अंडा (50 g)260 IU
पनीर 100 g763 IU
छांछ 1 कप (245 g)115.2 IU
बकरी के दूध का पनीर 100 g1,464 IU

 प्रोविटामिन Provitamin A के अच्छे स्रोत:-

स्त्रोत (Sources)Vitamin A की मात्रा IU में.
100 g शकरकंद14,187 IU
गाजर 100 g16,706 IU
1 कप कच्चे पालक2,013 IU
ब्रोकली 100 g623 IU
आम 100 g1,082 IU
200 g तरबूज1,138 IU
सूखे हुए खुबानी 100 g3,604 IU
कद्दू 100 g8,513 IU
संतरा 500 g1,125 IU
खरबूजा 50 g1,691 IU
अमरूद 200 g1,248 IU

शरीर में विटामिन ए की कमी के लक्षण क्या होते है? – What are the symptoms of Vitamin A deficiency of in the body?

Vitamin A को कम मात्रा में या ज्यादा मात्रा में लम्बे टाइम तक लेना, दोनों ही हमारी सेहत पर नुकसानदायक प्रभाव डालते है. इसलिए आपको विटामिन ए की सही मात्रा लेनी चाहिए. अब आप पढेंगे की विटामिन ए की कमी से हमारे शरीर में क्या लक्षण दिखाई देते है?

  • आँखों से संबंद्धित परेशानियाँ आना जैसे धुंधला दिखना, Night Blindness अंधेरे में सही से न देखना, रतोंधी, आँखों से आंसू ना आना, आँखों का सूखा रहना आदि.
  • विटामिन ए की कमी से कई तरह की skin problem भी देखी जाती है जैसे skin का रूखान, खुजली होना, सूजन , त्वचा में चमक व रोनक में कमी आदि.
  • Immune system कमजूर पड़ सकता है जिसके कारण खांसी, जुखाम आदि हो सकता है.
  • Vitamin A की कमी से दांत-मसूड़े कमजोर पड़ सकते है. बालो का रूखापन.
  • ज्यादातर बच्चो में विटामिन ए पूर्ति न होने से गले और छाती में इन्फेक्शन हो सकते है.
  • बच्चो का विकास धीमा हो जाता है.

ज्यादातर Vitamin A की कमी से होने वाली problems से निपटा जा सकता है, अगर विटामिन ए की सही मात्रा daily ली जाए तो.

इस Blog में अपने जाना की Vitamin A क्या होते है?, इसके कितने प्रकार के होते है, विटामिन ए का हमारे शरीर में क्या काम होता है अथवा इसके क्या फायदे होते है? और हमें daily कितना विटामिन ए लेना चाहिए?

आपको यह लेख (Blog) कैसा लगा, Comment करके ज़रूर बताये. और इसे जरूरतमंद लोगो के साथ Share करना ना भूलें.

Share करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *